जरा मुस्कुराना भी सीखा दे - Sad Shayari


Jara Muskurana Bhi Sikha De E Jindgi ,

Rona To Paida Hote Hi Sikh Liya Tha...


जरा मुस्कुराना भी सीखा दे ए जिंदगी ,

रोना तो पैदा होते ही सीख़ लिया था ...

जरा मुस्कुराना भी सीखा दे - Sad Shayari जरा मुस्कुराना भी सीखा दे - Sad Shayari Reviewed by Virendra Singh on July 13, 2017 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.