वो अपना दर्द रो रो कर सुनाते रहे - Sad Shayari

Vo Apna Dard Ro Ro Kar Sunate Rahe,

Hamari Tanhaiyo Se Bhi Aankh Churate Rahe,

Hame Hi Mil Gaya Khitab - e - Bewafa Kyunki ,

Ham Har Dard Muskura Kar Chupate Rahe .




वो तो अपना दर्द रो-रो कर सुनाते रहे,

हमारी तन्हाइयों से भी आँख चुराते रहे,

हमें ही मिल गया खिताब-ए-बेवफा क्योंकि,

हम हर दर्द मुस्कुरा कर छुपाते रहे।
वो अपना दर्द रो रो कर सुनाते रहे - Sad Shayari वो अपना दर्द रो रो कर सुनाते रहे - Sad Shayari Reviewed by Virendra Singh on July 12, 2017 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.