हिंदी शायरी - न्यू कलेक्शन


दुःख में ख़ुशी की वजह बनी है मोहब्बत ,
दर्द में यादो की वजह बनी है मोहब्बत ,
जब कुछ भी ना रहा था अच्छा इस दुनिया में,
तब हमारे जीने की वजह बनी है यह मोहब्बत .


वो लाख तुझे पुजती होगी मगर तू खुश न हो ऐ ख़ुदा ,
वि मन्दिर भी जाती है तो  मेरी गली से गुजरने के लिए .


वो जान गयी थी हमें दर्द में मुस्कराने की आदत है ,
वो रोज नया जख्म देती थी मेरी ख़ुशी के लिए .


सफर मोहब्बत का दुश्वार कितना है ,
मगर देखना है कोई वफादार कितना है ,
यही सोच कर कभी उसे नही माँगा हमने ,
उसे आजमाना है की वो मेरा तलबगार कितना है.

हिंदी शायरी - न्यू कलेक्शन हिंदी शायरी - न्यू कलेक्शन Reviewed by Virendra Singh on July 05, 2017 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.