मेरा कुर्सी तोड़ने का इरादा नही था

जज (महिला से)- तुमने अपने पति के सिर पर कुर्सी दे मारी और वह टूट गयी?

महिला (जज से)- जी हां, मगर यह मेरा इरादा नहीं था।

जज (महिला से)- यानी तुम्हारी नीयत पति पर हमला करने की नहीं थी।

महिला (जज से)- जी नहीं, मेरी नीयत कुर्सी तोड़ने की नहीं थी।.
मेरा कुर्सी तोड़ने का इरादा नही था मेरा कुर्सी तोड़ने का इरादा नही था Reviewed by Virendra Singh on April 23, 2015 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.